August 22, 2011

अन्ना जी की झंड करने के उपाय (व्यंग)

ये अन्ना जी आज कल कुछ ज्यादा ही हीरो बन रहे हैं| उन्होने सरकार की वाट लगा के रक्खी है| मुझसे ये बर्दाश्त नहीं हो रहा (गर्रर...)| इसलिए मैंने अपनी सर्वलोकप्रिय सरकार के लिए काफी गहन अध्यन के बाद १३ सूत्री फ़ॉर्मूला तैयार किया है:
  1. अन्ना जी ने सरकार को आतंकित कर रखा है| इसलिए उन्हें आतंकवादी घोषित करके पोटा जैसा कोई छोटा-मोटा कानून लगा दिया जाए| नॉन-स्टेट एक्टर तो वो पहले से ही हैं!

  2. क्यूंकि अन्ना जी ने देश की जनता को भ्रष्टाचारियों से अलग करने का प्रयत्न किया है इसलिए उन्हें अलगाववादी बताया जाए| ऐसा करने से हमारी "अनेकता में एकता" के सदियों पुरानी परम्परा पर गहरा घाव पड़ा है|

  3. सरकार अन्ना जी से भ्रष्टाचार की स्पेल्लिंग देश की हर भाषा में पूछे| जिस जिस भाषा में ना बता पायें उन्हें उस भाषा के लोगोँ के खिलाफ बताया जाए|

  4. परमपूजनीय मनीष तिवारी जी को अन्ना जी के खिलाफ रैली निकालने को कहा जाए| जिस तरह से उन्होने अन्ना जी को भ्रष्ट कहा है, मुझे लगता है की पूरे भारतवर्ष में उनसे ज्यादा साफ़ दिल नेता कोई है ही नहीं| जनता अवश्य साथ देगी|

  5. अमरीका और संघ परिवार से तो जनता मानी नहीं| अगर हम ये कह दें की अन्ना जी के पीछे पाकिस्तान का हाथ है तो मुझे पूरा भरोसा है की जनता जरूर मान जायेगी| हमारा पडोसी मुल्क और कब काम आएगा?

  6. सरकार अपने बिल का नाम "जन लोकपाल बिल" रख दे| फिर नाम को कॉपीराईट करवा ले| इस तरह से सरकार का काम भी हो जाएगा और लोगों को जन लोकपाल बिल भी मिल जाएगा!

  7. सरकार हर टीवी चैनल द्वारा हर समय सास बहु की जगह अन्ना की रसोई कार्यक्रम दिखवाये| इस तरह इस देश की आधी जनता वैसे ही अन्ना जी के खिलाफ हो जायेगी|

  8. सरकार अन्ना जी को पंजा लड़ाने का चेलेंज दे| जो जीत जाए उसका बिल पास हो| मुझे ज़रा भी संदेह नहीं है की ७ दिन भूका आदमी हार ही जाएगा (बशर्ते हमारे प्रधानमंत्री मैदान में ना उतरें)| अगर सरकार को पंजा लड़ना पसंद नहीं है तो गुल्ली डंडा, खो-खो, कबड्डी, कुश्ती, कंचे जैसे अनेको खेल हैं| अगर सरकार चाहे तो मैच फिक्स भी कर सकती है!

  9. सरकार (मुझ जैसे) बेरोजगार लोगोँ को नरेगा के तहत अन्ना जी के खिलाफ बोलने का काम दे दे| मैं पक्के तौर पे कह सकता हूँ की इस देश में बेरोजगारों की संख्या इमानदारों से कहीं ज्यादा है| हम अन्ना जी के साथ खड़े लोगोँ से ज्यादा बड़ा मोर्चा निकालेंगे|

  10. सरकार अन्ना जी का समर्थन कर रहे लोगोँ का राशन कार्ड रद्द कर दे तथा अन्ना जी का समर्थन करने वालोँ का भी भूख हड़ताल पर बैठना अनिवार्य कर दे| इस तरह से आज कल के नौजवान जो आज कल ज्यादा उछल, कल परसों में अपने आप शांत हो जायेंगे|

  11. सरकार अन्ना जी को वादा कर दे की अगर वो अपना अनशन वापस ले लें तो सौ-एक दिनो में सरकार उनका बिल ले आएगी| सौ दिन हो जाने पर सरकार वादे से मुकर जाए और फिर से अन्ना जी से सौ दिन का वादा करे| ऐसा करते करते सरकार अपना कार्यकाल पूरा कर लेगी और लोग भी बार-बार प्रोटेस्ट करके बोर हो जायेंगे|

  12. सरकार अन्ना जी के साथ ही मिल जाए| फिर अन्ना जी किसके खिलाफ आवाज उठाएंगे| हेहेहे|

  13. इससे भी बढ़िया सरकार अन्ना जी को अपने में मिला ले| जनता वैसे भी हर मंत्री के खिलाफ है ;)
मुझे पूर्ण विश्वास है की अगर सरकार इसे पूरी "इमानदारी" से अपनाएगी तो अन्ना जी की हम जरूर झंड कर देंगे (अगर न कर पाए तो हमारी झंड हो जायेगी :( )
Corruption Starts Here
Taken from Flickr under CC license


(नोट: इस पोस्ट के पीछे सिर्फ मेरा हाथ है)